education

वृक्ष की आत्मकथा – autobiography of a tree essay in hindi

वृक्ष की आत्मकथा
Written by Arun Upadhayay

वृक्ष की आत्मकथा – autobiography of a tree essay in hindi




वृक्ष की आत्मकथा  – मैं एक वृक्ष  हु।  आज के करीब २० वर्ष पहले , ठीक इसी जगह पर ही मेरा जन्म हुआ था | राहुल के मुह से गिरे हुए एक दाने से मेरे जीवन का शुरुवात हो गयी थी ।  मुझे आज भी वो पल याद है , जब मैंने सबसे पहली बार सूरज की रौशनी को मेह्स्सोस किआ था।  बचपन में तो मैं बहुत ही छोटा हुआ करता था, यही कोई एक – दो फूट का रहा होऊंगा मैं.




ise bhi padein :-

top 20 thought of the day in hindi 

best gulzar shayari in hindi 

good morning sms for lovers in hindi 

उस वक्त तो मुझे कई परेशानिओं का सामना भी करना पड़ता था, एक बार तो मेरी जान जातेजाते बची थी जब एक गाय ऐसे ही मेरे पास तक आ गयी थी और मेरे दोस्तों को खा चुकी थी पर फिर न जाने kaise में बाख गया । खैर, अब उन दिनों की बात छोड़ो , धीरे धीरे एक दो साल के भीतर ही मैं बड़ा हो गया । जब मेरा कद थोडा लम्बा हुआ तप मेरी एक समस्या से छुटकारा मिला जो था के, मुझे अब जानवरों का खतरा नही रहता था ।\अभी तो मेरे लिए ये दुनिया नयी सी थी, सब कुछ न्य न्य सा लग रहा था | वृक्ष की आत्मकथा

ऐसे ही कुछ साल और बीते और मैं एक ऐसा पेड़ बन गया जो एके अब खुद ही फल बना सकता था । तो अब मैंने लोगो को अपनी सेवा देनी शुरू कर दी थी ।  उन्हें अपनी शीतल छाया देता हु, उन्हें फल – फूल देता हु , लकड़ी , कागज़ , बादाम , और सबसे अमूल्य – ओषजन ( ऑक्सीजन ) मानव जाती मुझसे ही प्राप्त करती है।

 autobiography of a tree essay in hindi

पर मानव को देखो, वो तो मुझे जैसे लाखो पेड़  को , जो उन्हें इतनी ज़रूरी चीज़े देता है , उन्हें ही  काट डालता है।
कुछ साल पहले तो हालत और बुरी , अब तो फिर भी , सरकार के कुछ उद्योगो के सहारे हमारी सुरक्षा होती है।  अब मैं थोड़ा बूढ़ा हो रहा हु , फिर भी चालीस वर्ष मुझ जैसे बरगद के वृक्ष के लिए तो कुछ भी नही , अभी तो और हज़ारो साल मुझे यह दुनिया देखनी है , सच पेड़  होने के कुछ आभाव तो है , पर ज़रा यह भी जानू  कौन इस दुनिया को सौ – दोसौ साल तक देखेगा, मेरी तरह।  पेड़ होना भी कितना भग्यवान है। वृक्ष की आत्मकथा




About the author

Arun Upadhayay

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम अरुण उपाध्याय है और मैं एक professional blogger हूँ. अपनी पड़ी के साथ साथ blogging में अपना अच्छा नाम बनाना चाहता हु. मैं arunupadhayay.com का मालिक और साथ ही ऑथर भी हूँ. आप मेरे बारे में और जानकारी हमारे अबाउट उस page पर जा के पद सकते है.
धन्यवाद.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.